Home National जालंधर : हाथरस की घटना के विरोध में विधायक सुशील रिंकू ने...

जालंधर : हाथरस की घटना के विरोध में विधायक सुशील रिंकू ने फूंका मोदी व योगी का पुतला, दलितों की बेटियों की रक्षा करने में असमर्थ योगी तुरंत इस्तीफा दें : सुशील रिंकू

बयूरो : जालंधर वेस्ट के विधायक सुशील रिंकू ने आज हाथरस की घटना के विरोध में श्री गुरू रविदास चौंक बूटा मंडी में प्रधानमंत्री मोदी तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी का पुतला फूंका। उन्होंने हाथरस की घटना को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का इस्तीफा मांगते हुए उन पर सवालों की बौछार की और पूछा कि 14 दिन तक सोते रहने के बाद अचानक इस मामले में वह कैसे हरकत में आ गये।

विधायक सुशील रिंकू ने पहले इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफा देने की मांग की। उन्होंने आगे कहा कि रात को ढाई बजे परिजन गिड़गिड़ते रहे लेकिन हाथरस की पीड़िता के शव को आपके प्रशासन के लोगों ने जबरन जला दिया। वह जीवित थी तब सरकार ने उसे सुरक्षा नहीं दी। जब उस पर हमला हुआ तब सरकार ने समय पर इलाज नहीं दिया। पीड़िता की मृत्यु के बाद सरकार ने परिजनों से बेटी के अंतिम संस्कार का अधिकार छीना और मृतका को सम्मान तक नहीं दिया।

उन्होंने योगी आदित्यनाथ पर सवालों की बौछार करते हुए कहा, मैं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से कुछ सवाल पूछना चाहता हूँ। परिजनों से जबरदस्ती छीन कर पीड़िता के शव को जला देने का आदेश किसने दिया। पिछले 14 दिन से कहां सोए हुए थे आप। क्यों हरकत में नहीं आए और कब तक चलेगा ये सब। कैसे मुख्यमंत्री हैं, आप। उन्होंने कहा, देखिए, ये हादसा 14 तारीख को हुआ और 30 तारीख को पहली बार मुख्यमंत्री ने इस हादसे पर बयान दिया है।इतनी हैवानियत हुई, इस लड़की के साथ, इतना बड़ा हादसा हुआ और 15 दिन बाद इनका बयान आया है और बयान में क्या कहते हैं कि प्रधानमंत्री जी का फोन आया और मैंने एसआईटी गठित की है। क्या आपको प्रधानमंत्री जी के फोन का इंतजार था।

विधायक ने आगे कहा , क्या 15 दिनों तक आप कुछ नहीं कर पाए। इस लड़की का इलाज नहीं किया आपने, पीड़िता को किसी अच्छे अस्पताल में नहीं ले जाया गया क्यू? उसके परिवार के साथ कैसा व्यवहार किया कि अपनी बेटी की लाश आखिरी बार अपने घर नहीं ले जा पाए, उसकी चिता उनके पिता जला नहीं पाए, उनको एक कमरे में बंद किया। इस तरह का व्यवहार अमानवीयता का सबसे बड़ा उदाहरण है। रिंकू ने कहा कि दलितों की बेटियों की रक्षा करने में योगी सरकार बिल्कुल असमर्थ दिख रही है जिस कारण माननीय राज्यपाल को योगी सरकार को बर्खास्त कर प्रदेश में गवर्नरी राज लागू किया जाना चाहिए। आज के पुतला फूंक प्रदर्शन में विधायक सुशील रिंकू के साथ पंजाब खादी ग्रामोद्योग के डायरेक्टर मेजर सिंह, पार्षद मदन लाल खिंदर, सुचा सिंह,पार्षद लखोत्रा, राज कुमार राजू, बचन लाल,सोनू ढल्ल, हंस राज ढल्ल, अनमोल ग्रोवर, पार्षद जगदीश समराय, श्री गुरु रविदास धाम बूटा मंडी के प्रधान ओम प्रकाश महे, पार्षद लखबीर बाजवा, बलबीर अंगुराल, हरजिंदर लाडा, पार्षद मिन्टू गुजर, संदीप वर्मा, अभि लोच, चिराग वर्मा, सचिन लवली, नासिर सलमानी, गुरबचन जल्ला, बिल्ला राम भगत, हरीश महे, दिलावर महे, लवली थापर, सुरिन्दर बिट्टू, अजय भगानिया, मन्नू थापर, बब्बू थापर, गुरप्यार सिंह, ओम प्रकाश भगत, कलभूषण जस्सम, जोगिन्दर पाल बब्बी, तरसेम थापा, भोला अघिनोत्री, चंदन सहदेव, रतन लाल कुंडल आदि उपस्थित थे।