Home Punjab जालंधर : लिटरेरी फोरम द्वारा महात्मा गांधी जयंती के शुभ अवसर पर...

जालंधर : लिटरेरी फोरम द्वारा महात्मा गांधी जयंती के शुभ अवसर पर एक विशेष पुस्तक वार्ता का आयोजन

ब्यूरो: जालंधर लिटरेरी फोरम ने आज, 2 अक्टूबर को पड़ने वाली महात्मा गांधी जयंती के शुभ अवसर पर एक विशेष पुस्तक वार्ता का आयोजन किया। फेसबुक पर जालंधर लिटरेरी फोरम के बुक रैक ग्रुप में वार्ता का सीधा प्रसारण किया गया। इस विशेष वार्ता में शैली तेजा (कनाडा) एवीड बुक रीडर और स्कॉलर ने, महात्मा गाँधी की शख्सियत उनके द्वारा लिखी आत्मकथा ” सत्य के प्रयोग द स्टोरी ऑफ़ माय एक्सपेरिमेंट्स विथ ट्रूथ पर बुक टॉक की। फोरम के संयोजक नवजोत सिंह एडवोकेट वार्ता के मेजबान थे। शैली तेजा ने एक्सक्लूसिव टॉक में अवगत कराया कि पुस्तक सत्य के प्रयोग की कहानी एक उत्कृष्ट कृति है और चबाने और पचाने वाली पुस्तक है। पुस्तक में, गांधी ने भौतिक, वैज्ञानिक और राजनीतिक अनुभवों से युक्त लगभग 105 प्रयोग लिखे। शैली तेजा ने कहा कि वह कोशिश कर रहे हैं इन प्रयोगों को अपने जीवन में लागू करे और पुस्तक पढ़ने के बाद वह शुद्ध शाकाहारी बन गए। उन्होंने आगे कहा कि गांधी आज भी बहुत प्रासंगिक हैं और कनाडा और अमेरिका जैसे देशों में उनके फोल्लोवेर्स हैं। उन्होंने एक और पुस्तक की सिफारिश की “व्हाट वोउल्ड गाँधी डो? पम्मी कौर द्वारा लिखित है पाठकों द्वारा पड़ने योग्य है और मिस न करने वाली पुस्तक है। शैली ने कहा कि गांधी जी को कोसना एक गलत प्रवृत्ति है और वह अफवाहों और सुनी सुनायी बातो पर आधारित है। इसलिए किसी को उनकी किताबें पढ़नी चाहिए, विशेष रूप से उनकी आत्मकथा, तब गांधी जी के व्यक्तित्व के बारे में निर्णय ले। वरिष्ठ पत्रकार राकेश शांतिदूत वार्ता के निदेशक थे और दिनेश मल्होत्रा ​​सह-निदेशक थे। फोरम के संयोजक नवजोत सिंह ने शैली तेजा को अपना बहुमूल्य समय और टॉक देने के लिए धन्यवाद दिया। अंत में फोरम की ओर से राकेश शांतिदूत फोरम के सह संयोजक ने शेल्ली तेजा को पुस्तक भेंट की।